myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

Himalaya Shatavari Tablets

उत्पादक: Himalaya Drug Company

19 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

Himalaya Shatavari Tablets

उत्पादक: Himalaya Drug Company

19 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

सदस्य इस दवा को ₹114.95 में ख़रीदे।

₹121.0 ₹152.0
20% छूट

19 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

cashback
cashback
cashback
पर्चा अपलोड करके आर्डर करें

पर्चा अपलोड करके ऑर्डर करें वैध पर्चा कैसा होता है ? आपके अपलोड किए गए पर्चे

Himalaya Shatavari Tablets की जानकारी

हिमालय शतावरी एक शुद्ध जड़ी बूटी से निकली दवाई है। शतावरी महिलाओं के लिए सबसे उपयोगी जड़ी बूटी मानी जाती है। यह महिला हार्मोनल प्रणाली के संतुलन में मदद करती है । शतावरी रक्त और महिलाओं के प्रजनन अंगों को साफ करती है और इस प्रकार शरीर की प्राकृतिक उर्वरता का समर्थन करती है। यह गर्भ और डिंब का पोषण करती है और गर्भावस्था के लिए महिला के अंगों को ठीक रखती है। यह शरीर के प्राकृतिक स्तनपान को बढ़ावा भी देती है।

शतावरी के बारे में

शतावरी का पौधा भारत में कम जंगलों के इलाकों में बढ़ता है। इसकी जड़ें मुख्य रूप से औषधीय प्रयोजनों के लिए उपयोग की जाती हैं। 

इसमें सैपोनिंस, ऐल्कलॉइड्स, प्रोटीन्स और टॅनिन्स शामिल हैं। इसमें ट्रितेरपेने सपोनिंस भी हैं जो शरीर में एस्ट्रोजन के प्राकृतिक उत्पादन का समर्थन करते हैं।
शतावरी में बायोफ्लवोनॉइड्स, आवश्यक विटामिन बी घटक, कैल्शियम और ज़िंक के आवश्यक तत्व भी शामिल हैं।

शतावरी का आयुर्वेद में स्थान

संस्कृत में शतावरी का अर्थ है "वह जिसके पास सौ पति हैं," अर्थात इसमें प्रजनन और जीवन शक्ति में मदद करने की क्षमता है। 

शतावरी का उल्लेख चरक संहिता, सुश्रुत संहिता और अस्तंगा संग्रहा जैसे आयुर्वेदिक ग्रंथों में किया गया है। पंडित हेम राज शर्मा ने कश्यप संहिता में स्पष्ट रूप से कहा है कि शतावरी मातृ स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है और स्तनपान कराने वाली माताओं में स्तन के दूध के स्राव को बढ़ाती है।

आयुर्वेद में शतावरी को जड़ी बूटियों की रानी कहा जाता है और महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण जड़ी बूटी माना जाता है। 'वात', 'पित्त' और 'कफ' इन तीन आयुर्वेद दोषों में से शतावरी 'पित्त दोष' को संतुलित करने में मदद करती है। शतावरी में मीठा "मधुरा" और कड़वा "टिकता" का रस है। यह एक प्राकृतिक शीतलक है। 

Himalaya Shatavari Tablets के लाभ और उपयोग करने का तरीका - Himalaya Shatavari Tablets Benefits & Uses in Hindi

Himalaya Shatavari Tablets इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

  1. शतावरी महिला प्रजनन अंगों का ध्यान रख उनके प्रजनन स्वास्थ्य को ठीक रखती है। 
  2. यह गर्भपात को भी रोकता है और एक प्रसवोत्तर टॉनिक के रूप में उपयोगी है।
  3. शतावरी स्वस्थ हार्मोनल संतुलन बनाए रखती है। 
  4. शतावरी मासिक धर्म के दौरान दर्द से राहत और खून की कमी को नियंत्रित कर पीएमएस के लक्षणों का इलाज करती है।
  5. शतावरी स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए दूध के सामान्य उत्पादन में मदद करती है।
  6. शतावरी में फाइटो एस्ट्रोजेन है जो उन महिलाओं के लिए काफ़ी लाभदायक है जो शायद रजोनिवृत्ति, हिस्टरेकटोमी या उफ़ोरेकतोमी के कारण प्राकृतिक एस्ट्रोजेन के स्तर के कम होने से पीड़ित हैं।
  7. शतावरी प्रतिरक्षा और पाचन तंत्र के सामान्य कार्य में मदद करती है।
  8. शतावरी स्वस्थ कामेच्छा का समर्थन भी करती है।

Himalaya Shatavari Tablets की खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका - Himalaya Shatavari Tablets Dosage & How to Take in Hindi

दैनिक 1 कैप्सूल दो बार भोजन के बाद। 

प्राकृतिक उत्पादों का परिणाम दिखने में समय लगता है इसलिए लाभ के लिए कई हफ्तों का समय दें।

Himalaya Shatavari Tablets की सामग्री - Himalaya Shatavari Tablets Active Ingredients in Hindi

Himalaya Shatavari Tablets के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Himalaya Shatavari Tablets Side Effects in Hindi

रिसर्च के आधार पे Himalaya Shatavari Tablets के निम्न साइड इफेक्ट्स देखे गए हैं -

हिमालय शतावरी कैप्सुल्स का कोई ज्ञात प्रतिकूल प्रभाव नहीं है।

Himalaya Shatavari Tablets के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - Frequently asked Questions about Himalaya Shatavari Tablets in Hindi

  1. अपनी हालत में सुधार लाने के लिए मुझे हिमालय शतावरी कैप्सुल्स का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?
    ऐसा देखने में आया है कि आम तौर से दो हफ्ते में सुधार दिखना शुरू हो जाता है। किंतु हर किसी की स्थिति में फरक होता है इसलिए हिमालय शतावरी कैप्सुल्स के इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

  2. हिमालय शतावरी कैप्सुल्स को दिन में कितनी बार लेने की आवश्यकता है?
    आम तौर से हिमालय शतावरी कैप्सुल्स दिन में दो बार लेनी चाहिए। क्योंकि आपकी मेडिकल स्थिति अलग हो सकती है, इसलिए हिमालय शतावरी कैप्सुल्स का कितना इस्तेमाल आपके लिए उचित है यह डॉक्टर से सलाह करें।

  3. हिमालय शतावरी कैप्सुल्स को खाली पेट लेना चाहिए या भोजन से पहले या भोजन के बाद?
    आम तौर से हिमालय शतावरी कैप्सुल्स भोजन के बाद ही ली जाती है। परंतु अपनी स्थिति के बारे में डॉक्टर से सलाह और फिर निर्णए लें।

  4. क्या यह दवा आदत या लत बन सकती है?
    अधिकतर दवाओं की लत नहीं पड़ती। जिन दवाइयों की लत पड़ने का ख़तरा होता है, उन्हे भारत सरकार ने नियंत्रित पदार्थों की अनुसूची H या X में शामिल कर दिया है। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवाई ना लें।

  5. क्या हिमालय शतावरी कैप्सुल्स को लेना एकदम से रोका जा सकता है या इसे धीरे धीरे लेना रोकना चाहिए?
    कई दवाइयों को अचानक लेना बंद कर दें तो विपरीत असर हो सकता है। हिमालय शतावरी कैप्सुल्स को रोकने से पहले अपनी स्थिति अपने डॉक्टर को बतायें और फिर निर्णय लें।

  6. क्या हिमालय शतावरी कैप्सुल्स का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?
    अपने डॉक्टर से इसके बारे में सलाह करें।

  7. क्या हिमालय शतावरी कैप्सुल्स का उपयोग स्तनपान की अवधि के दौरान सुरक्षित है?
    इसके बारे में डॉक्टर से ज़रूर पूछें और उनकी सलाह के अनुसार ही निर्णय लें।

विशेष विवरण

उत्पादक Himalaya
Number of Contents in Sales Package 60 tabs.

Himalaya Shatavari Tablets का पैक साइज, कीमत - Himalaya Shatavari Tablets Price and Pack Size in Hindi

Himalaya Shatavari Capsules ₹121.0 खरीदें

क्या आप या आपके परिवार में कोई Himalaya Shatavari Tablets लेता है ? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें