myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पिनवॉर्म इन्फेक्शन क्या है?

पिनवॉर्म ऐसे परजीवी होते हैं, जो मनुष्य की आंत या गुदा में रह सकते हैं। इन्हें थ्रेडवर्म भी कहा जाता है। चिकित्सकीय भाषा में पिनवॉर्म इन्फेक्शन को ‘इंट्रोबायसिस’ कहते हैं। ये परजीवी जीवित रहने के लिए और गुणन के लिए मनुष्य के शरीर का उपयोग करते हैं, लेकिन किसी अन्य प्राणी को संक्रमित नहीं कर सकते। पिनवॉर्म से संक्रमित होने के बाद ये कीड़े मनुष्य की आंत में पलते हैं और गुदा क्षेत्र में अंडे देते हैं।

पिनवॉर्म इन्फेक्शन के लक्षण क्या होते हैं?
इस इन्फेक्शन से संबंधित सबसे मुख्य लक्षण हैं -

पिनवॉर्म इन्फेक्शन के मुख्य कारण क्या होते हैं?

पिनवॉर्म के अंडों के संपर्क में आने से पिनवॉर्म इन्फेक्शन फैलता है। ये अंडे इतने छोटे होते हैं कि मानव आंखों से दिखाई नहीं देते। साफ़-सफाई न रखने के कारण ये अंडे संक्रमित व्यक्ति से किसी अन्य जगह पर चले जाते हैं, अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति इन अण्डों को छू ले और ये अंडे उसके शरीर में चले जाएं, तो उसे भी ये संक्रमित हो जाता है।

संक्रमित व्यक्ति की निजी चीज़ों पर भी पिनवॉर्म के अंडे हो सकते हैं। कुछ गंभीर मामलों में, सांस के द्वारा भी ये अंडे व्यक्ति के शरीर में जा सकते हैं।

पिनवॉर्म इन्फेक्शन का पता कैसे चलता है और इसका इलाज कैसे होता है?

कुछ मामलों में, संक्रमित व्यक्ति के अंडरवियर पर पिनवॉर्म के अंडों को देखा जा सकता है। रात के समय ये अंडे दिखने की संभावना अधिक होती है क्योंकि रात के समय ही मादा पिनवॉर्म अंडे देती है। पिनवॉर्म दिखने में सफ़ेद रंग के धागे जैसे होते हैं।

इसका पता लगाने के लिए डॉक्टर व्यक्ति के गुदा क्षेत्र से रुई के फाहे के माध्यम से सैंपल ले सकते हैं। इसके अलावा, पिनवॉर्म इन्फेक्शन का पता लगाने के लिए टेप टेस्ट भी किया जा सकता है। इस टेस्ट में टेप का इस्तेमाल करके गुदा क्षेत्र से सैंपल लिया जाता है और फिर उस सैंपल को माइक्रोस्कोप में देखा जाता है।

पिनवॉर्म इन्फेक्शन के इलाज के लिए कई दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। ये दवाएं निम्न तरह से काम करती हैं -

  • जीवित रहने के लिए कीड़ों को ग्लूकोस की ज़रूरत होती है। ये दवाएं कीड़ों की ग्लूकोज को अवशोषित करने की क्षमता को बंद कर देती हैं।
  • इन दवाओं से कीड़े अधमरे हो जाते हैं।

इन्फेक्शन को फैलने से रकने के लिए पर्सनल हाइजीन का ध्यान रखें और अपने हाथों को साफ रखें।

(और पढ़ें - पेट में कीड़े होने के लक्षण)

  1. पिनवॉर्म की दवा - Medicines for Pinworms in Hindi
  2. पिनवॉर्म के डॉक्टर
Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Alok Mishra

Dr. Alok Mishra

संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Amisha Mirchandani

Dr. Amisha Mirchandani

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

पिनवॉर्म की दवा - Medicines for Pinworms in Hindi

पिनवॉर्म के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
SBL Wormorid Drops खरीदें
Dr. Reckeweg Chelone G. Q खरीदें
ADEL Ratanhia Mother Tincture Q खरीदें
Dr. Reckeweg Ratanhia Dilution खरीदें
D Worm (Times) खरीदें
D Worm (Trans) खरीदें
Eben खरीदें
Kit Kat खरीदें
Lupimeb खरीदें
Mebenth खरीदें
Pymolar खरीदें
Mebex खरीदें
Sandin खरीदें
Combantrin खरीदें
Sta खरीदें
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें