myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया क्या है?

हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया बीमारी रक्त-थक्के पदार्थ प्रोथ्रॉम्बिन की कमी के कारण होती है, जिसके कारण लंबे समय तक खून बहता है। हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया आमतौर पर विटामिन के की कमी के कारण होता है, जो जिगर की कोशिकाओं में प्रोथ्रोबिन के संश्लेषण के लिए आवश्यक है। वयस्कों में यह बीमारी पीलिया के मामलों में होती है, जिसमें आंत्र में पित्त का प्रवाह बाधित होता है। विटामिन के आंतों के अवशोषण के लिए पित्त आवश्यक होता है। इससे जिगर और आंत्र-कोशिका में सामान्य हानि उत्पन्न हो सकती है। नवजात शिशु में प्रोथ्रोबिन की कमी से हेमेरेजिक बीमारी जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इसमें आंतरिक और बाहरी रक्तस्त्राव नाम्बिलस या श्लेष्म झिल्ली से होता है।

  1. हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया की दवा - Medicines for Hypoprothrombinemia in Hindi

हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया की दवा - Medicines for Hypoprothrombinemia in Hindi

हाइपोप्रोथ्रॉम्बिनेमिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
K Nat खरीदें
Neo K खरीदें
Kneon खरीदें
Injek खरीदें
Kip खरीदें
Phyto K 1 खरीदें
Kenadion खरीदें
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
अभी 18 डॉक्टर ऑनलाइन हैं ।