myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -
संक्षेप में सुनें

दुःख, बुरा महसूस करना, दैनिक गतिविधियों में रुचि या खुशी ना रखना हम इन सभी बातों से परिचित हैं। लेकिन जब यही सारे लक्षण हमारे जीवन में अधिक समय तक रहते हैं और हमें बहुत अधिक प्रभावित करते हैं, तो इसे अवसाद यानि डिप्रेशन कहते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार दुनिया भर में अवसाद सबसे सामान्य बीमारी है। और दुनिया भर में लगभग 350 मिलियन लोग अवसाद से प्रभावित होते हैं।

अवसाद एक मानसिक स्वास्थ्य विकार है। विशेष रूप से यह एक मूड विकार है जो लगातार उदासी और किसी भी चीज़ से कोई लगाव न होने के कारण होता है। अवसाद कुछ दिनों की ही समस्या नहीं है यह एक लम्बी बीमारी है। अवसाद प्रकरण की औसत समय 6-8 महीने होती है।

(और पढ़ें - मानसिक रोग का इलाज)

मूड का उतार-चढ़ाव अवसाद से अलग है। मूड का उतार-चढ़ाव तो हम अपने सामान्य और स्वस्थ जीवन में भी अनुभव करते हैं। हमारे दैनिक जीवन की चुनौतियों के प्रति हमारी अस्थायी भावुक प्रतिक्रियाएं अवसाद को जन्म नहीं देती हैं। इसी तरह जब हमारे किसी करीबी की मौत होती है और हम दुखी होते हैं तो वो भावना भी अवसाद नहीं है। हाँ अगर हम लम्बे समय तक उनकी मौत से दुखी रहते हैं तो अवसाद की समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें - मानसिक रोग दूर करने के उपाय)

  1. डिप्रेशन (अवसाद) के प्रकार - Types of Depression in Hindi
  2. डिप्रेशन (अवसाद) के लक्षण - Depression Symptoms in Hindi
  3. डिप्रेशन (अवसाद) के कारण - Depression Causes in Hindi
  4. डिप्रेशन (अवसाद) से बचाव - Prevention of Depression in Hindi
  5. डिप्रेशन (अवसाद) का परीक्षण - Diagnosis of Depression in Hindi
  6. डिप्रेशन (अवसाद) का इलाज - Depression Treatment in Hindi
  7. डिप्रेशन (अवसाद) के जोखिम और जटिलताएं - Depression Risks & Complications in Hindi
  8. डिप्रेशन (अवसाद) की दवा - Medicines for Depression in Hindi
  9. डिप्रेशन (अवसाद) की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Depression in Hindi
  10. डिप्रेशन (अवसाद) के डॉक्टर

डिप्रेशन (अवसाद) के प्रकार - Types of Depression in Hindi

डिप्रेशन के प्रकार

अवसाद के कई अलग-अलग प्रकार हैं, जिनमें शामिल हैं - 

  1. मेजर डिप्रेशन - Major depressive disorder in hindi
  2. डायस्टिमिया या क्रोनिक अवसाद - Dysthymia and chronic depression in hindi
  3. सीजनल इफेक्टिव या मौसम प्रभावित डिप्रेशन - Seasonal affective disorder in hindi
  4. सायकोटिक डिप्रेशन - Psychotic depression in hindi
  5. बाइपोलर डिप्रेशन - Bipolar depression in hindi

मेजर डिप्रेशन - Major depressive disorder in hindi

मेजर डिप्रेशन में व्यक्ति गहरी निराशा और आशाहीन में चला जाता है। प्रमुख अवसाद लक्षणों के संयोजन (combination) से चिह्नित है जो काम करने, अध्ययन करने, सोने, खाने और

प्रमुख अवसाद (major depression) में व्यक्ति गहरे निराशा और आशाहीन्ता में चला जाता है। इस अवसाद के लक्षण व्यक्ति के काम करने, अध्ययन करने, सोने, खाने और आनन्ददायक गतिविधियों का आनंद लेने की क्षमता में हस्तक्षेप करते हैं। मेजर अवसाद केवल एक बार हो सकता है लेकिन अकसर यह जीवन भर में कई बार होता है।

डायस्टिमिया या क्रोनिक अवसाद - Dysthymia and chronic depression in hindi

लोग जो मानसिक अवसाद के लिए अस्पताल में भर्ती होते हैं इनमें लगभग 25% लोग सायकोटिक डिप्रेशन से पीड़ित होते हैं। अवसाद के लक्षणों के अतिरिक्त सायकोटिक डिप्रेशन वाले लोगों में मतिभ्रम - उन चीजों को देखना या सुनना जो वास्तव में नहीं हैं या भ्रम - तर्कहीन विचार और भय के लक्षण भी दीखते हैं।

सीजनल इफेक्टिव या मौसम प्रभावित डिप्रेशन - Seasonal affective disorder in hindi

डायस्टिमिया को लम्बे समय से चल रहें अवसाद के रूप में संदर्भित किया जाता है। यह अवसाद का गंभीर रूप नहीं है, लेकिन इस अवसाद के लक्षण लंबे समय तक कई वर्षों तक रह सकते हैं। जो लोग डायस्टियमिया से पीड़ित होते हैं, वे आमतौर पर सामान्य रूप से कार्य करने में सक्षम होते हैं पर हमेशा नाखुश लगते हैं। डायस्टियमिया की स्तिथि मेजर डिप्रेशन से भिन्न है। डायस्टियमिया के लक्षण प्रमुख अवसाद से कम होते हैं। डायस्टियमिया की पहचान करने के लिए वयस्कों में यह कम से कम दो साल और बच्चों या किशोरों में एक वर्ष तक यह रहना चाहिए।

सायकोटिक डिप्रेशन - Psychotic depression in hindi

मौसम प्रभावित डिप्रेशनहर हर साल एक ही समय में आता है। आम तौर पर यह स्प्रिंग या सर्दियों में शुरू होता है और वसंत या गर्मियों की शुरुआत में समाप्त होता है। मौसम प्रभावित डिप्रेशन का एक दुर्लभ रूप समर डिप्रेशन (गर्मी के अवसाद) के रूप में जाना जाता है। यह वसंत या गर्मियों की शुरुआत में शुरू होता है और स्प्रिंग में समाप्त होता है।

जो लोग सीजनल इफेक्टिव डिप्रेशन से पीड़ित हैं, उनमें प्रमुख अवसाद के लक्षण होते हैं जैसे उदासी, चिड़चिड़ापन सामान्य गतिविधियों में रूचि ना होता, सामाजिक गतिविधियों से भागना और ध्यान केंद्रित करने में कमी आदि।

बाइपोलर डिप्रेशन - Bipolar depression in hindi

इस डिप्रेशन में मन लगातार कई हफ़्तो तक या महिनों तक बहुत उदास या फिर बहुत अत्यधिक खुश रहता है। उदासी में नकारात्मक विचार तथा मैनिक डिप्रेशन में ऊँचे ऊँचे विचार आते हैं। इसमें पीड़ित व्यक्ति का मन बारी-बारी से दो अलग और विपरीत अवस्थाओं में जाता रहता है। इस बीमारी में इंसान के व्यवहार में अचानक बदलाव देखने को मिलता है। कभी मरीज बहुत खुश तो कभी बहुत उदास रहता है।

डिप्रेशन (अवसाद) के लक्षण - Depression Symptoms in Hindi

अवसाद किस प्रकार का है, उसके अनुसार अवसाद के लक्षण भिन्न हो सकते है। अवसाद न केवल आपके विचारों और भावनाओं को प्रभावित करता है, यह आपके कार्य और दूसरों के साथ आपके संबंधों पर भी प्रभाव डाल सकता है। तो चलिए जानते हैं अवसाद के लक्षणों के बारे में -

  1. उदासी
  2. थकान
  3. ध्यान केंद्रित करने में परेशानी
  4. दुख
  5. गुस्सा
  6. चिड़चिड़ापन
  7. हताशा
  8. आनंददायक या मजेदार गतिविधियों में भाग ना लेना
  9. बहुत अधिक नींद या बहुत कम नींद आना
  10. एनर्जी में कमी, अस्वस्थ भोजन की लालसा करना
  11. चिंता
  12. दुसरो से अलग रहना
  13. बेचैनी
  14. चिंतित रहना
  15. स्पष्ट रूप से सोचने या निर्णय लेने में परेशानी
  16. काम या स्कूल में खराब प्रदर्शन
  17. गतिविधियों में भाग ना लेना
  18. अपराधबोध होना
  19. मन में आत्मघाती विचार लाना
  20. सिर या मांसपेशियों में दर्द रहना
  21. दवा या शराब का दुरुपयोग करना

डिप्रेशन (अवसाद) के कारण - Depression Causes in Hindi

अवसाद साधारण स्थिति नहीं है जिसका कोई ज्ञात कारण हो। कुछ लोगों की अवसादग्रस्त होने की सम्भावना ज़्यादा होती है और कुछ की क़म। इसलिए अपने डॉक्टर से अपने लक्षणों पर चर्चा करना ज़रूरी है। तो चलिए जानते हैं, अवसाद के कई संभावित लक्षणों के बारे में -

  1. डिप्रेशन का कारण हो सकता है आनुवंशिकी - Depression caused by genetics in hindi
  2. अवसाद का कारण हैं दिमाग में परिवर्तन - Depression due to brain chemical imbalance in hindi
  3. डिप्रेशन का कारण है हार्मोन परिवर्तन - Depression as a result of hormonal imbalance in hindi
  4. मौसम में परिवर्तन है डिप्रेशन का कारण - Depression during seasonal changes in hindi
  5. जीवन में बड़ा परिवर्तन है डिप्रेशन का कारण - Situational causes of depression in hindi

डिप्रेशन का कारण हो सकता है आनुवंशिकी - Depression caused by genetics in hindi

अवसाद वंशानुगत से हो सकता। यदि आपके परिवार में पहले किसी सदस्य को कभी अवसाद हुआ हो तो आप भी अवसाद का अनुभव कर सकते हैं। अभी तक यह पता नहीं चला है की अवसाद में कौन सा जीन शामिल है।

अवसाद का कारण हैं दिमाग में परिवर्तन - Depression due to brain chemical imbalance in hindi

कुछ लोगों के दिमाग में परिवर्तन के कारण अवसाद हो सकता है। हालांकि अभी तक इसके कारण का पता नहीं चला है, यह माना जाता है कि अवसाद मस्तिष्क के कामकाज के प्रवाभित होने से शुरू होता है। इसलिए कुछ मनोचिकित्सक अवसाद के मामलों में मस्तिष्क रसायन विज्ञान (brain chemistry) की मदद लेते हैं।

मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर (Neurotransmitters), विशेष रूप से सेरोटोनिन ( serotonin), डोपामाइन (dopamine) या नोरेपेनेफ्रिन (norepinephrine) खुशी और आनंद की भावनाओं को प्रभावित करते हैं और अवसाद की स्तिथि में ये असंतुलित हो सकते हैं। अभी तक इसके कारण का सही पता नहीं चला है। एन्टीडिप्रेंटेंट्स न्यूरोट्रांसमीटर को संतुलित करने का काम करता है। यह मुख्यतः सेरोटोनिन को संतुलित करता है। न्यूरोट्रांसमीटर संतुलन से बाहर क्यों निकल जाते हैं और यह अवसादग्रस्त में क्या भूमिका है इसका अभी तक पता नहीं चला है।

डिप्रेशन का कारण है हार्मोन परिवर्तन - Depression as a result of hormonal imbalance in hindi

हार्मोन उत्पादन या हार्मोन के कामकाज में परिवर्तन से भी अवसाद की शुरुआत हो सकती है। हार्मोन में भी बदलाव जैसे रजोनिवृत्ति, प्रसव, थायरॉयड समस्या या अन्य विकार के दौरान बदलाव भी अवसाद का कारण बन सकते हैं।

पोस्टपार्टम डिप्रेशन (postpartum depression) में बच्चे के जन्म के बाद माताओं में डिप्रेशन की समस्या हो जाती है। हालांकि हार्मोन्स में बदलाव के कारण संवेदनशील होना काफी सामान्य है, लेकिन पोस्टपार्टम डिप्रेशन एक गंभीर समस्या है।

मौसम में परिवर्तन है डिप्रेशन का कारण - Depression during seasonal changes in hindi

जैसे-जैसे सर्दियों के दिन आते हैं और दिन छोटे हो जाते हैं, बहुत से लोग सुस्ती, थकान और रोज़मर्रा के कार्यों में रूचि ना रख पाना अनुभव करते हैं। इस समस्या को मौसम प्रभावित विकार (SAD) कहा जाता है। यह स्थिति आमतौर पर सर्दियां ख़त्म होने पर समाप्त हो जाती है जब दिन लम्बे हो जाते हैं। इसके इलाज के लिए आप डॉक्टर से दवा या मशवरा ले सकते हैं।

जीवन में बड़ा परिवर्तन है डिप्रेशन का कारण - Situational causes of depression in hindi

कोई ट्रॉमा, जीवन में बड़ा परिवर्तन या संघर्ष अवसाद जैसी समस्या को बढ़ा सकता है। किसी प्रियजन को खो देना, नौकरी से निकाल दिया जाना, धन से सम्बंधित परेशानियों का सामना करना या कोई और गंभीर बदलाव लोगों में अवसाद की समस्या को जन्म देते हैं।

पोस्ट-ट्रोमैटिक तनाव विकार (PTSD) अवसाद का एक रूप है जो जीवन में किस गंभीर परिस्थिति से गुजरने के बाद होता है। अक्सर युद्ध से लौटने वाले सैनिकों में PTSD की समस्या होती है। यह कई घटनाओं के कारण भी हो सकता है जैसे बचपन में ट्रामा के कारण, किसी डरावनी घटना के कारन, दुर्व्यवहार या हमले के कारण, गंभीर कार दुर्घटना या अन्य दुर्घटना के कारण, किसी ने धमकी दी हो उसके कारण आदि।

डिप्रेशन (अवसाद) से बचाव - Prevention of Depression in Hindi

अवसाद एक मनोदशा विकार है जो आपके जीवन को अंधेरे में ले जा सकता है। अवसाद के उपचार के लिए अपने आपको दवा पर निर्भर ना करें। अवसाद की समस्या से प्राकृतिक रूप से छुटकारा पाने के लिए खुशहाल जीवन शैली का पालन करें और सुखद आहार का सेवन करें।

  1. डिप्रेशन से बचने के लिए आहार - Diet for depression patients in hindi
  2. अवसाद से निकलने का उपाय है व्यायाम - Exercise to get rid of depression in hindi
  3. डिप्रेशन को दूर करने के उपाय हैं पवित्र शास्त्र - Books to help overcome depression in hindi
  4. अवसाद से बचाव में सुनें मधुर संगीत - Listening to music helps depression in hindi
  5. डिप्रेशन की दवा है जल्दी उठना, जल्दी सोना - Depression se bachne ke liye sleep early get up early in hindi
  6. डिप्रेशन से निकलने का तरीका है अपना शौक पूरा करना - Pursue hobbies to prevent depression in hindi

1. डिप्रेशन से बचने के लिए आहार - Diet for depression patients in hindi

यह वैज्ञानिक रूप से साबित हुआ है कि कुछ खाद्य पदार्थ हमें खुश महसूस कराते हैं। तो आज हम आपको बताते हैं कि खुश रहने और अवसाद से छुटकारा पाने के लिए आपको किस तरह के आहार का सेवन करना चाहिए।

डिप्रेशन में क्या खाएं - Food to eat during depression in hindi

मनोदशा (mood) को बढ़ाने वाले ऐसे भोजन का सेवन करें जो ट्रिप्टोफैन, ओमेगा -3 फैटी एसिड और फोलिक एसिड से समृद्ध हो जैसे शतावरीअंडेहल्दी, कद्दू बीज आदि। ये घटक सेरोटिन (serotin) के स्तर में वृद्धि करने में मदद करते हैं जो आपके मूड में सुधार लाते हैं। बादाम और काजू के सेवन के साथ साथ सुबह में हरी चाय पीने से भी तनाव जैसी समस्या से छुटकारा मिलता है। अपने आहार में विटामिन और मैग्नीशियम का भी सेवन करें। केवल ताजे फल और सब्जियां खाएं। खाना हमेशा समय पर ही खाएं। बहुत अधिक मात्रा में पानी पिएं और आसानी से पचने योग्य भोजन खाएं क्योंकि कब्ज आपकी परेशानी को बढ़ा सकता है। (और पढ़ें - तनाव को दूर करने के लिए जूस)

अवसाद से बचने के लिए क्या नहीं खाएं - Food not to eat during depression in hindi

कैफीन, निकोटीन और शराब आपकी स्थिति के लिए खराब हैं। सभी प्रकार के फास्ट फूड, हाइड्रोजनीकृत तेल, ट्रांस फैट, रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट और आर्टिफीशियल स्वीटनर्स का सेवन नहीं करें। चीनी भी आपकी मनोदशा को खराब कर सकती है इसलिए इसका सेवन कम करें। (और पढ़ें - मूड को अच्छा बनाने के लिये खाएं ये सूपरफूड)

2. अवसाद से निकलने का उपाय है व्यायाम - Exercise to get rid of depression in hindi

व्यायाम या योगासन जैसे हलासन, पश्चिमोत्तानासनसर्वांगासनशवासन आदि अवसाद के इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उदास मनोदशा को ठीक करने के लिए सुबह में ध्यान करें और धीरे-धीरे गहरी सांस लें। फिर आप सुबह में टहल भी सकते हैं। इससे आप खुश रहेंगे। (और पढ़ें -   तनाव से राहत के लिए योग)

3. डिप्रेशन को दूर करने के उपाय हैं पवित्र शास्त्र - Books to help overcome depression in hindi

मानसिक आध्यात्मिकता (mental spirituality) से संबंधित अच्छी किताबें या उपन्यास पढ़ें। भजन सुनें और पवित्र शास्त्र पढ़ें। यह आपको आंतरिक शांति प्रदान करते हैं और आपके मन में सकारात्मक विचारों को प्रोत्साहित करते हैं। (और पढ़ें - केसर खाने के फायदे डिप्रेशन में)

4. अवसाद से बचाव में सुनें मधुर संगीत - Listening to music helps depression in hindi

अपने चारों ओर ख़ुशी का माहौल बनाने के लिए संगीत की मदद लें। लेकिन उदास या दिल टूटने वाले गीतों को न सुनें। मधुर और अच्छे गाने सुनें। (और पढ़ें - पीनट बटर के फायदे करें अवसाद को दूर)

5. डिप्रेशन की दवा है जल्दी उठना, जल्दी सोना - Depression se bachne ke liye sleep early get up early in hindi

सूर्योदय के साथ जागें, देर रात तक ना जागते रहें। 10 बजे के बाद जागते रहना और 6 बजे के बाद सोते रहना भावनात्मक तनाव पैदा करता है और आपकी मनोदशा को सुस्त और उदास बनाता है। सोने से कम से कम आधे घंटे पहले लैपटॉप या मोबाइल फोन से अपनी आंखों को हटा लें। (और पढ़ें - सुबह जल्दी उठने के आयुर्वेदिक तरीके )

6. डिप्रेशन से निकलने का तरीका है अपना शौक पूरा करना - Pursue hobbies to prevent depression in hindi

अपने शौक को पूरा करें जो आपको ख़ुशी देते हैं। अपने दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताएं और उन लोगों के आसपास रहें जो आपको खुशी देते हैं। अपने मन से नकारात्मक विचारों को दूर करें और मन को सकारात्मक विचारों से भर दें। (और पढ़ें - जटामांसी का पौधा है अवसाद में उपयोगी)

अपने आहार और जीवन शैली में इन परिवर्तनों को अपनाएं और एक सामान्य और सुखी जीवन बिताएं।

डिप्रेशन (अवसाद) का परीक्षण - Diagnosis of Depression in Hindi

अवसाद का निदान कैसे करें?

डॉक्टर अवसाद का निदान निम्नलिखित परीक्षणों द्वारा कर सकते हैं -

  1. शारीरिक परिक्षण - डॉक्टर आपका शारीरिक परिक्षण कर सकते हैं, और आपसे आपके स्वास्थय से सम्बंधित सवाल भी पूछ सकतें हैं। कुछ मामलों में, अवसाद शारीरिक समस्याओं के कारण होता है।
  2. प्रयोगशाला परीक्षण - डॉक्टर रक्त परीक्षण कर सकतें हैं। जिसे पूर्ण रक्त गणना कहा जाता है, या थायरॉयड का परीक्षण कर सकतें हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए कि वह ठीक से काम कर रहा है।
  3. मनो-चिकित्‍सा संबंधी परिक्षण - डॉक्टर आपके लक्षण, विचार, भावनाओं और व्यवहार के पैटर्नों के बारे में पूछतें है, इन सवालों के जवाब देने के लिए आपको एक प्रश्नावली भरने के लिए कहा जा सकता है।

डिप्रेशन (अवसाद) का इलाज - Depression Treatment in Hindi

अवसाद का इलाज कैसे किया जाता है?

विषाद एक चिकित्सा योग्य मानसिक रोग है। अवसाद को निम्नलिखित तरीकों से ठीक किया जा सकता हैं -

  1. समर्थन 
  2. साइकोथेरपी - इसे टॉकिंग थेरेपी भी कहा जाता है, जैसे कि - कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (CBT)।
  3. दवाइयों द्वारा इलाज - एंटी-डेप्रेसेंट्स का उपयोग होता होता है। 

साइकोथेरपी  

  1. अवसाद के लिए की जाने वाली साइकोलॉजिकल या टॉकिंग थेरेपी में कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (CBT), इंटरपर्सनल साइकोथेरपी और समस्या निवारण उपचार शामिल है।
  2. CBT और इंटरपर्सनल थेरेपी दो मुख्य प्रकार की साइकोथेरपी हैं, जिनका इस्तेमाल अवसाद को ठीक करने के लिए किया जाता है। CBT को आमने-सामने, समूह में या टेलीफोन द्वारा व्यक्तिगत सत्रों में वितरित किया जा सकता है।

एंटी-डेप्रेसेंट्स दवाइयां

इन दवाइयों  का डॉक्टर द्वारा सुझाव दिया जाता है। इन दवाइयों का मध्यम से लेकर तीव्र अवसाद को ठीक करने में इस्तेमाल होता है। यह दवाइयां छोटें बच्चों को नहीं दी जाती हैं। किशोरों को भी बहुत सावधानी से इसका इस्तेमाल करना चाहिए। उदहारण के लिए - ट्राईसाइक्लिक एंटी-डेप्रेसेंट्स (tricyclic anti-depressants)।

व्यायाम और अन्य इलाज

  1. एरोबिक व्यायाम - एरोबिक व्यायाम हल्के अवसाद को ठीक कर सकता है क्योंकि यह न्यूरोट्रांसमीटर नोरेपेनेफ्रिन को उत्तेजित करता है, जो मूड से संबंधित है।
  2. मस्तिष्क उत्तेजना उपचार - इलेक्ट्रोकन्वल्सिव चिकित्सा सहित - अवसाद में भी उपयोग किया जाता है।
  3. इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी (electroconvulsive therapy) - अवसाद के गंभीर मामले जिनसे दवाओं द्वारा इलाज में फर्क नहीं पड़ा है, उन्हें इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी (ईसीटी) से फायदा हो सकता है; यह मनोवैज्ञानिक अवसाद के लिए विशेष रूप से प्रभावी है।

डिप्रेशन (अवसाद) के जोखिम और जटिलताएं - Depression Risks & Complications in Hindi

अवसाद के कारण होने वाली अन्य परेशानियां या बिमारी

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अवसाद का निदान अधिक किया जाता है, क्योंकि महिलाओं में उपचार की संभावना अधिक होती है।

कारक जो विकास या ट्रिगरिंग अवसाद के जोखिम को बढ़ाते हैं, इसमें शामिल हैं -

  • कुछ व्यक्तित्व लक्षण, जैसे कि -
    • कम आत्मसम्मान
    • बहुत अधिक निर्भर
    • स्व-आलोचनात्मक
    • निराशावादी
  • दर्दनाक या तनावपूर्ण घटनाएं - जैसे कि -
    • शारीरिक या यौन शोषण
    • किसी एक व्यक्ति की मौत या हानि
    • एक कठिन संबंध
    • या वित्तीय समस्याएं
  • करीबी रिश्तेदारों को अवसाद होना जिसमें
    • द्विध्रुवी विकार
    • शराब
    • आत्महत्या शामिल हैं।
  • अन्य मानसिक स्वास्थ्य संबंधी विकारों का इतिहास - जैसे कि -
    • चिंता विकार
    • खाने का विकार
    • पोस्ट-ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर्स
  • शराब या मनोरंजक दवाओं का दुरुपयोग

  • गंभीर या लम्बे समय से होने वाली बीमारी
  • कुछ दवाएं, जैसे कुछ उच्च रक्तचाप दवाएं या नींद की गोलियां (किसी भी दवा को रोकने से पहले अपने चिकित्सक से बात करें)

अवसाद की जटिलताएं 

अवसाद एक गंभीर विकार है जिसके कारण आपको और आपके परिवार को बहुत मुश्किल का सामना कर पद सकता है। यदि इसका इलाज नहीं किया जाये, तो अवसाद अक्सर अधिक खराब हो जाता है, जिसके परिणामस्वरूप भावनात्मक, व्यवहारिक और स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं जो आपके जीवन के हर क्षेत्र को प्रभावित करता हैं।

अवसाद के साथ जुड़े जटिलताओं के उदाहरणों में शामिल हैं -

  1. अत्यधिक वजन या मोटापा, जिससे हृदय रोग और शुगर हो सकता है।
  2. दर्द या शारीरिक बीमारी।
  3. शराब या नशीली दवाओं के दुरुपयोग।
  4. चिंता, आतंक विकार या सामाजिक भय।
  5. पारिवारिक संघर्ष, रिश्ते संबंधी कठिनाइयों और काम या स्कूल की समस्याएं।
  6. सामाजिक अलगाव।
  7. आत्मघाती भावनाएं, आत्महत्या के प्रयास या आत्महत्या।
  8. आत्म-विकृति, जैसे काटने।
  9. चिकित्सा स्थितियों से समयपूर्व मृत्यु।
Dr. Anil Kumar

Dr. Anil Kumar

साइकेट्री
12 वर्षों का अनुभव

Dr. Ajay Kumar Vashishtha

Dr. Ajay Kumar Vashishtha

साइकेट्री
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Amar Golder

Dr. Amar Golder

साइकेट्री
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Arvind Gautam

Dr. Arvind Gautam

साइकेट्री
3 वर्षों का अनुभव

डिप्रेशन (अवसाद) की दवा - Medicines for Depression in Hindi

डिप्रेशन (अवसाद) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Milnace खरीदें
Libotryp Tablet खरीदें
Fludac खरीदें
Spectra खरीदें
Acmil खरीदें
Amitar Plus Tablet खरीदें
Sycodep खरीदें
Etizola Lite खरीदें
Oleanz Plus खरीदें
Neuroxetin खरीदें
Esna खरीदें
Floxin खरीदें
Xeprich खरीदें
Milborn खरीदें
Amitop Plus खरीदें
Toframine खरीदें
Etizola Plus खरीदें
Olipar Plus खरीदें
Rejunuron Dl खरीदें
Es Ok खरीदें
Floxiwave खरीदें
Woxepin खरीदें
Amitril Plus खरीदें
Trikodep खरीदें

डिप्रेशन (अवसाद) की ओटीसी दवा - OTC medicines for Depression in Hindi

डिप्रेशन (अवसाद) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Baidyanath Yakuti Ras खरीदें
Divya Ashwagandharishta खरीदें
Baidyanath Jawahar Mohra No1 खरीदें
Divya Medha Vati खरीदें
Baidyanath Chaturbhuj Ras खरीदें
Dabur Ashwagandharishta खरीदें
Baidyanath Chandraprabha Vati खरीदें
Dabur Vrihat Vatchintamani Ras Tablet खरीदें
Baidyanath Brain Tablets खरीदें
Baidyanath Dimag Poushtik Rasayan खरीदें
Baidyanath Brahmi Bati Buddhivardhak खरीदें
Himalaya Mentat Syrup खरीदें
Dabur Ashwagandharishta खरीदें
Himalaya Mentat Tablet खरीदें
Dabur Stresscom खरीदें

References

  1. American Psychiatric Association [Internet] Washington, DC; Depression
  2. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Depression. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  3. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Depression. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  4. National Health Service [Internet]. UK; Depression
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें