myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

भारत के साथ ही दुनियाभर के कई देशों में कॉकरोच पाए जाते हैं। कॉकरोच की करीब 3500 से अधिक प्रजातियां होती है। अपने देश की बात करें तो आज के दौर में अधिकतर घरों में कॉकरोच होना एक आम बात है। गंदगी और धूल मिट्टी वाली जगह में होने वाले विभिन्न आकार के कॉकरोच व्यक्ति को बीमार करने की एक मुख्य वजह बनते हैं। यही कारण है कि आज ज्यादातर लोग अपने घरों से कॉकरोच को भगाने के लिए कई तरह के उपायों को आजमाते नजर आते हैं।

(और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण का इलाज)

इस लेख में आपको कॉकरोच से होने वाली बीमारियों के बारे में विस्तार से बताया गया है। साथ ही इसमें आप कॉकरोच कैसे बीमारी फैलाते हैं और कॉकरोच से होने वाली बीमारियों से कैसे बचाव करें आदि जानकारियों के बारे में भी विस्तार से बताने का प्रयास किया गया है।

(और पढ़ें - दस्त में क्या खाना चाहिए)

  1. कॉकरोच क्या है - Cockroache kya hai
  2. कॉकरोच से होने वाले रोग - Cockroache se hone wali bimariya
  3. कॉकरोच किस तरह से बीमारी फैलाते हैं - Cockroache kis tarah se bimari failate hain
  4. कॉकरोच से होने वाली बीमारियों से कैसे बचाव करें - Cockroache se hone wali bimariyo se kaise bachav kare
  5. कॉकरोच से होने वाली बीमारियां के डॉक्टर

कॉकरोच क्या है - Cockroache kya hai

सामान्य कॉकरोच नमी और गंदगी में ही होते हैं। कॉकरोच के जीवन चक्र में तीन चरण होते हैं, जिसमें अंडा, निम्फ (nymph: पूर्ण रूप से व्यस्क ना होना) और व्यस्क होने को शामिल किया जाता है। मादा कॉकरोच एक त्वचा की तरह कठोर खोल में अंडे को जमा करती है, यह खोल किसी कैप्सूल की तरह होता है। इस खोल को ओथिका (ootheca) कहा जाता है।

कॉकरोच की कुछ प्रजातियों (जैसे जर्मन कॉकरोच) में ओथिका उनके शरीर के पिछले हिस्से में कुछ सप्ताह तक जुड़ा रहता है। ओथिका के जरिये कॉकरोच की प्रजातियों का पता लगता है। कॉकरोच प्रजाति, तापमान और नमीं (humidity: आद्रर्ता) के आधार पर एक या तीन महिनों में अंडे देती हैं। एक मादा कॉकरोच एक बार में 10 से 40 अंडे दे सकती हैं। औसतन एक मादा कॉकरोच अपने पूरे जीवनकाल में करीब 30 बार अंडे देती है।

(और पढ़ें - वायरस क्या है)

निम्फ और छोटे कॉकरोच में पंख नहीं होते हैं और यह कुछ ही मिलीमिटर लंबे होते हैं। अंडों के अंदर कॉकरोच सफेद रंग के होते हैं, जबकि पैदा होने के कुछ घंटों बाद ही इनका रंग गहरा हो जाता है।

आमतौप पर कॉकरोच झुंड में रहते हैं। यह विशेष रूप से रात को ही सक्रिया होते हैं, दिन के समय में यह घरों के किनारों, अंधेरे वाली जगहों, दिवारों की दरारों, किचन की सिंक की पाइप व नालियों के पास रहते हैं। कॉकरोच कई प्रकार के भोजन को खाते हैं, जिसमें व्यक्तियों के द्वारा खाए जाने वाले भोजन को भी शामिल किया जाता है। लेकिन कॉकरोच को स्टार्च और मीठी चीजे खाना पंसद होती है।

(और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन का इलाज)   

कॉकरोच से होने वाले रोग - Cockroache se hone wali bimariya

कॉकरोच की वजह से आपको कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। कॉकरोच की वजह से निम्नलिखित बीमारियां होने की आशंका होती हैं:

 (और पढ़ें - टाइफाइड का इलाज)

कॉकरोच किस तरह से बीमारी फैलाते हैं - Cockroache kis tarah se bimari failate hain

निम्नलिखित प्रकार से कॉकरोच आपको संक्रमित कर सकता है।

  • सांस के जरिए:
    यदि आप कॉकरोच के मल और लार से निकलने वाली प्रोटीन को सांस के जरिए अंदर ले लेते हैं तो इससे आप संक्रमित हो जाते हैं। (और पढ़ें - सांस फूलने का उपचार)
     
  • छूने से:
    अगर आप कॉकरोच की उल्टी, मल और लार से संक्रमित चीजों को छुने के बाद आंख, नाक और मुंह में हाथ लगाते हैं तो इससे बैक्टीरिया आपके शरीर में आसानी से प्रवेश कर सकत हैं। जिससे आप बीमार पड़ जाते हैं।
     
  • भोजन से:
    यदि आप कॉकरोच से संक्रमित आहार को खाते हैं तो इससे भी आपके बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है। 

(और पढ़ें - पेट में इन्फेक्शन का इलाज)

कॉकरोच से होने वाली बीमारियों से कैसे बचाव करें - Cockroache se hone wali bimariyo se kaise bachav kare

कॉकरोच से होने वाली बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए आपको निम्नलिखित उपायों को आजमाना चाहिए।

  • घर को साफ सुथरा बनाएं रखें। (और पढ़ें - मच्छर मारने के उपाय )
  • घर का तापमान ठंडा बनाएं, जिससे कॉकरोच पैदा न हो सकें। कॉकरोच मुख्य रूप से नमी और गर्म वातारण में ही होते हैं।
  • खाने को एयर टाइट कंटेनर और रेफ्रिजेटर में ही रखें।
  • घर के कूड़ेदान को नियमित रूप से साफ करें और उसमें कूड़े को ज्यादा समय तक न रहने दें व ढककर रखें। (और पढ़ें - गले की खराश का इलाज​)
  • गंदे कपड़ों, अंडे की ट्रे और फर्नीचर को घर में ले जाने से पहले एक बार चेक जरूर करें।
  • घर की दीवारों के किनारों पर होने वाले छेद, दरारें व किचन के किनारों में मौजद छेदों को बंद करें और खुली हुई नालियों को भी अच्छी तरह से बंद कराएं, ताकि कॉकरोच उनमें न छुप सकें। (और पढ़ें - चींटी भगाने के घरेलू उपाय)
  • कॉकरोच को मारने के लिए बाजार में कई तरह की दवाएं और उपाय मौजूद हैं। आप इनका प्रयोग करके भी अपने घर से कॉकरोच को आसानी से खत्म कर सकते हैं।   

(और पढ़ें - पेट में कीड़े होने पर क्या करें​

Dr.Priyanka Trimukhe

Dr.Priyanka Trimukhe

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Nisarg Trivedi

Dr. Nisarg Trivedi

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr MD SHAMIM REYAZ

Dr MD SHAMIM REYAZ

सामान्य चिकित्सा
7 वर्षों का अनुभव

Dr. prabhat kumar

Dr. prabhat kumar

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें